. . किसी हुसैन का लब खोलना ज़रूरी नहीं गुलाब ख़ुशबू के रस्ते कलाम करते हैं . . .


.
.
किसी हुसैन का लब खोलना ज़रूरी नहीं
गुलाब ख़ुशबू के रस्ते कलाम करते हैं
.
.
.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *