कुन की अज़ान-ए-नाज़ का जौहर नबी मिरा

कुन की अज़ान-ए-नाज़ का जौहर नबी मिरा
ख़िलक़त की हर बहार का झूमर नबी मिरा

रोशन है कहकशाओं में हुसन-ए-मुहम्मदी
सोचो तो किस क़दर है मुनव्वर नबी मिरा

सय्यद, कलीम, उम्मी, मुहम्मद, क़वी, ख़लील
मंसूर, हक़, नज़ीर, मुतह्हर नबी मिरा

ता, बशीर, अज़ीज़, रहीम, इबतही, मुनीर
यासीन, अमीन, नूर, मुदस्सर नबी मिरा

नक़्श-ए-क़दम रसूल का ख़ूशबूए देन है
नालैन भी है जिस की मुअत्तर नबी मिरा

ता हश्र, नाअत खवानों ने मेहनत तो की मगर
क़तरा हूवा बयान, समुंदर नबी मिरा

मेराज थी फ़रिश्तों की हैरानगी की रात
बे पर भी उतरा क़ैस, फ़लक पर नबी मिरा
#शहज़ाद क़ैस

Sign Up